शिमला जिले की चेरी के दामों ने तोड़े पिछले सारे रिकॉर्ड

शिमला जिले की चेरी के दामों ने तोड़े पिछले सारे रिकॉर्ड

#शिमला

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले की चेरी के दामों ने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। कोटगढ़ के बागवानों की चेरी को दिल्ली में 600 से 700 रुपये प्रतिकिलो रेट मिले हैं। आमतौर पर चेरी 300 से 350 रुपये प्रति किलो बिकती है लेकिन कोराना काल में विटामिन-सी से भरपूर चेरी को भारी मांग के चलते बेहतरीन रेट मिल रहे हैं। अच्छे रेट मिलने से चेरी उत्पादक भी उत्साहित हैं।


कोटगढ़ के भरेड़ी के छावनी आर्चर्ड के संचालक साहिब सिंह भैक के बेटे सलुज भैक ने बताया कि मरचेंट किस्म की उनकी चेरी दिल्ली में 700 रुपये प्रति किलो के रिकॉर्ड रेट पर बिकी है। अब तक इस रेट पर कभी भी उनकी चेरी नही बिकी। बढ़िया साइज और क्वालिटी के साथ विटामिन सी और मिनरल्स से भरपूर होने के कारण उनकी चेरी को यह रेट मिला है। भरेड़ी के ही बागवान अमर सिंह भैक की चेरी को भी 700 रुपये प्रति किलो रेट मिले हैं।


उन्होंने बताया कि अच्छी क्वालिटी के चलते बढ़िया रेट मिले हैं। आइना आर्चर्ड के संचालक अनिल भैक ने बताया कि बुधवार को उनकी चेरी दिल्ली में 600 रुपये प्रतिकिलो बिकी है। पिछले साल 300 से 350 रुपये रेट थे। इस साल चेरी का साइज बड़ा होने के चलते अच्छे रेट मिले हैं।  पिछले दिनों कुल्लू की चेरी को दिल्ली में 300 रुपये प्रति किलो रेट मिले थे। बुधवार को शिमला की फल मंडी में चेरी अधिकतम 230 रुपये बिकी।