नेरवा में आदमखोर तेंदुए ने डेढ़ साल के बच्चे को बनाया अपना निवाला

#शिमला नेरवा में आदमखोर तेंदुए ने डेढ़ साल के बच्चे को निवाला बना दिया। इस हादसे से दिहाड़ी मजदूरी करने वाले नेपाली मूल के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक नेरवा की ग्राम पंचायत रूसलाह के गांव शेईला में एक ढारे में नेपाली मूल का दिनेश बहादुर पत्नी व बच्चे सहित रह रहा है। रात को जब बच्चा ढारे के बाहर खेल रहा था, तो अंधेरे का फायदा उठाकर तेंदुआ बच्चे को उठा ले गया। बच्चे के मां बाप द्वारा चिल्लाने व शोर मचाने से तेंदुए ने बच्चे के क्षत-विक्षत शव को कुछ दूरी पर छोड़ दिया और जंगल में चला गया। मां बाप ने अपने डेढ़ साल के लाल विशाल को उसी समय नेरवा अस्पताल लाया जहां पर डाक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। मासूम की मौत से परिवार में मातम छाया हुआ है। मृतक बच्चे का नेरवा अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। तेंदुए के हमले में मासूम की मौत पर इलाके में हड़कंप मच गया है। स्थानीय लोगों ने प्रशासन से आदमखोर तेंदुए को पकड़ने की मांग की है।डीएसपी चोैपाल राज कुमार ने पुष्टि करते हुए आज बताया कि बच्चे का शव ढारे से कुछ दूरी पर बरामद किया गया है। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

नेरवा में आदमखोर तेंदुए ने डेढ़ साल के बच्चे को बनाया अपना निवाला