टास्क फोर्स ने किया बाल गृहों का निरीक्षण

टास्क फोर्स ने किया बाल गृहों का निरीक्षण

#मंडी

एसडीएम सदर निवेदिता नेगी ने सदर उपमंडल में स्थित बाल/ बालिका देखभाल संस्थानों (बाल गृहों) में रह रहे बच्चों की सही देखभाल के लिए गठित टास्क फोर्स के सदस्यों के साथ गुरूवार को बाल गृह तल्याहड़ तथा खुला आश्रय मंडी (ओपन शेल्टर होम) का दौरा किया। इस दौरान समिति सदस्य जिला बाल संरक्षण अधिकारी मंडी डी.आर. नायक, बाल विकास परियोजना अधिकारी सदर धनीराम एवं चिकित्सा अधिकारी रती डा. अक्षय उनके साथ रहे।
बता दें, मंडी जिला में उपायुक्त द्वारा जिला मंे चलाए जा रहे बाल/ बालिका देखभाल संस्थानों (बाल गृहों) में रह रहे बच्चों की सही देखभाल के लिए उपमण्डल स्तर पर संबंधित उपमण्डलाधिकारियों की अध्यक्षता में टास्क फोर्स गठित की गई हैं। जिला में इस समय 8 बाल/बालिका देखभाल संस्थान हैं जहां पर देखभाल और संरक्षण बाले बच्चों को रखा जाता है।
    बाल गृह तल्याहड़ में इस समय कुल 11 बच्चे हैं। निवेदिता नेगी ने सभी बच्चों से एक-एक करके बातचीत की, उनसे उनकी रूचि व करियर प्लान के बारे में जाना और उनका मार्गदर्शन किया। बच्चों से संस्थान द्वारा दी जा रही सुविधाओं के बारे में पूछा। उन्होंने संस्थान के कर्मचारियों को कोविड के नियमों की अनुपालना तय बनाने के निर्देश दिए ।


   इसके उपरांत उन्होंने ओपन शेल्टर होम मंडी का भी निरीक्षण किया। वहां 3 बच्चे रह रहे हैं। एसडीएम ने समन्वयक को कोविड से बच्चों की सुरक्षा पर खास ध्यान देने को कहा। उन्होंने बच्चों की पढ़ाई को लेकर सभी जरूरी प्रबंध करने को कहा।
    एस.डी.एम. सुन्दरनगर राहुल चौहान के निर्देश पर बालिका गृह सुन्दरनगर तथा आईसीएसए सुन्दरनगर में किए गए सभी बालिकाओं के कोविड टेस्ट
    वहीं उपमण्डल सुन्दरनगर के बाल/ बालिका गृहों के लिए बनी टास्क फोर्स के निरीक्षण से पूर्व गुरुवार को उपमण्डलाधिकारी सुन्दरनगर राहुल चौहान के निर्देश पर बालिका गृह सुन्दरनगर तथा विषेष योग्यता प्राप्त बालिकाओं के लिए बाल गृह (आई.सी.एस.ए) सुन्दरनगर में चिकित्सा अधिकारियों की टीम भेजकर रह रही बालिकाओं के कोविड टेस्ट करवाए गए। जिसमें दोनों संस्थानों में रह रही सभी बालिकाओं की रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव पाई गई। 
राहुल चौहान ने दिव्य मानव ज्योति सेवा संस्थान डैहर में सभी बच्चों के भी शुक्रवार को टेस्ट करवाने के निर्देश दिए।